जगन प्रसाद गर्ग पांचवी बार विधायक बने. पार्टी ने मंत्री बनाना उचित नहीं समझा. शायद मंत्रिमंडल विस्तार में जगह मिले.

‘अग्रवाल टुडे’ ने पिछले अंक में विधायक जगन प्रसाद गर्ग को न केवल जीतने बल्कि मंत्री बनने की भविष्यवाणी की थी. विधायक तो बने मगर मंत्री बनने में अभी देर है. आगरा नार्थ की जनता को उम्मीद है की अगले विस्तार में उन्हें मंत्री बनाया जायेगा.
ऐसे विधायक बहुत कम हैं जिन्हें जनता के हर वर्ग का समर्थन है.

क्या वैश्यों ने आगरा नार्थ में चुनाव से बेरुखी दिखाई है ?

क्या वैश्यों ने आगरा नार्थ में चुनाव से बेरुखी दिखाई है ?

प्रथम चरण के चुनाव में आगरा नार्थ जो वैश्य बाहुल्य क्षेत्र है में सबसे काम वोटिंग परसेंटेज रही है. यह ठीक नहीं है. जितना और हारना तो कई फैक्टर्स पर निर्भर करता है और यह जरूरी नहीं की जो जीते उसे सारी जनता का विश्वास प्राप्त है.
आगरा नार्थ में अगर वैश्यों ने बेरुखी दिखाई है तो परिस्थियों का विश्लेषण करना होगा. वर्ना यहाँ वैश्य निर्णायक नहीं रह पाएंगे.

क्या मानेंगे आप अग्रवालों को? क्षत्रिय या बनिये?

क्या मानेंगे आप अग्रवालों को? क्षत्रिय या बनिए?
अग्रवाल महाराजा अग्रसेन के वंशज हैं. महाराजा अग्रसेन ने वणिक धर्म ग्रहण कर लिया था. मगर धर्म ग्रहण करने से खून की क्वालिटी नहीं बदल सकती.वणिक धर्म ग्रहण करने का उद्देश्य हिंसा नहीं करना था.
आइये इस विषय में और बातचीत करें. थोड़ा थोड़ा सभी अपने विचार व्यक्त करें.
Dr. G.P.Agarwal, Chief Editor, ‘Agarwal Today’ monthly. 9412263311 (whatsapp), editor@agarwaltoday.com

Things to know about ‘Agarwal Today’

x

‘अग्रवाल टुडे’ के बारे में जानने योग्य बातें :

१- पिछले पंद्रह वर्ष से लगातार प्रकाशित हो रहा है.
२- पूरे भारतवर्ष और विदेशों में भी सदस्य हैं.
३- बिना डाक टिकेट चिपकाये पोस्ट करने के लिए लाइसेंस मिला हुआ है.
४-केवल अग्रवाल समाज से सम्बंधित समाचार प्रकाशित होते हैं.
५- समाज के बारे में खरी खरी कहने वाला एकमात्र सामाजिक समाचार पत्र.
६- प्रति माह ११ व् १२ तारीख को डाक से भेज़ा जाता है.
७-वैवाहिक विज्ञापन निःशुल्क प्रकाशित किये जाते हैं.

और भी बहुत बातें बताने को हैं …………………